छत्तीसगढ़ विधानसभा में धान पर उबला विपक्ष, 14 विधायक निलंबित

  29/11/2019


प्रदेश में महज दो दिन बाद धान खरीद शुरू होगी, लेकिन केंद्र से सेंट्रल पूल में धान खरीद का कोटा घटाने का मामला सुलझ नहीं पाया है। इस बीच विधानसभा के शीतकालीन सत्र में धान पर विपक्ष ने जमकर बवाल किया। विपक्ष ने धान खरीद और धान का रकबा घटाने के सरकारी प्रयास पर हंगामा किया। विपक्ष के विधायकों ने सरकार पर किसानों के साथ धोखा करने का आरोप लगाया। हंगामा बढ़ने पर विपक्ष के 14 विधायक वेल में आ गए, जिन्हें निलंबित कर दिया गया।

प्रश्नकाल में भाजपा विधायक धान खरीद की दर को लेकर मंत्री से सवाल कर रहे थे। मगर मंत्री अमरजीत भगत हर बार यही जवाब दे रहे थे कि केंद्र ने समर्थन मूल्य पर खरीदने के लिए हमें बाध्य किया है। हम 25 सौ रुपये प्रति क्विंटल किसानों को देना चाहते हैं। वहीं विपक्ष इस सवाल पर अड़ा रहा कि एक दिसंबर से किस दर पर खरीद होगी। इसी बात को लेकर भाजपा, जकांछ के 14 विधायक वेल में आ गए। नियमानुसार वेल में आने वाले विधायक स्वत: निलंबित हो जाते हैं। निलंबन के बाद विपक्ष के विधायकों ने विधानसभा परिसर में स्थित गांधी प्रतिमा के सामने प्रदर्शन किया और सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।

विपक्ष आरोप है कि धान का रकबा कम करने के लिए मुख्य सचिव ने कलेक्टरों को फरमान दिया है। खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने कहा कि रकबे में अनावश्यक कटौती करने का कोई निर्देश कलेक्टरों को नहीं दिया गया है।














विज्ञापन
Facebook
वीडियो
आपका वोट
क्या भूपेश सरकार का १५ अगस्त तक का सफर उपलब्यियों भरा रहा ? क्या है आपकी राय ?
विज्ञापन
आपकी राय

संपर्क करे

अगर आप कोई सूचना, लेख , ऑडियो वीडियो या सुझाव हम तक पहुचाना चाहते है तो इस ई-मेल आई पर भेजे info@ekhabri.com या फिर Whatsapp करे 7771900010



  
विज्ञापन