असाधारण मेधावी वक्ता और गुणी व्यक्तित्व के धनी बाबू जगजीवन राम की जयंती आज

  05/04/2019


खास खबर। जगजीवन राम को आम तौर पर बाबूजी के नाम से जाना जाता है एक राष्ट्रीय नेता स्वतंत्रता सेनानी, सामाजिक न्याय के योद्धा, दलित वर्गों के समर्थक उत्कृष्ट सांसद, सच्चे लोकतंत्रवादी, उत्कृष्ट केंद्रीय मंत्री, योग्य प्रशासक और असाधारण मेधावी वक्ता थे। आपका व्यक्तित्व महान था आपने भारतीय राजनीति में आपने प्रतिबद्धता, समर्पण और निष्ठा के साथ अर्ध-शताब्दी तक कार्य किया। जून, 1935 में बाबूजी का विवाह इंद्राणी देवी से हुआ था। इंद्राणी देवी स्वयं एक स्वतंत्रता सेनानी और शिक्षाविद थीं।

उनके पिता डा. बीरबल एक प्रतिष्ठित चिकित्सक थे और उन्होंने ब्रिटिश सेना में कार्य किया था तथा 1889-90 में चीन-लुशई युद्ध में उनकी सेवाओं के लिए तत्कालीन वायसराय लार्ड लैंसडाउन द्वारा उन्हें विक्टोरिया मैडल से सम्मानित किया गया था। 17 जुलाई, 1938 को उनके पुत्र सुरेश कुमार और 31 मार्च, 1945 को पुत्री मीरा कुमार का जन्म हुआ। 21 मई, 1985 को सुरेश कुमार का निधन हो गया जिससे आपके माता-पिता को अत्यंत आघात पहुंचा।

जगजीवन राम का जन्म शोभी राम और वसंती देवी के यहां 5 अप्रैल, 1908 को बिहार के शाहाबाद जिले अब भोजपुर के एक छोटे से गांव चंदवा में हुआ था। जगजीवन राम को आदर्श मानवीय मूल्य और सूझबूझ  अपने पिता से विरासत में मिली जो धार्मिक प्रविृति के थे अैर शिव नारायणी मत के महंत थे।

1940 से 1977 तक वे अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के सदस्य थे और वर्ष 1948 से 1977 तक कांग्रेस कार्यकारी समिति के सदस्य रहे। 1950 से 1977 तक आप केंद्रीय संसदीय बोर्ड  के सदस्य रहे। अपनी राजनीतिक कुशग्रता के कारण आप पंडित जवाहर लाल नेहरू और श्रीमती इंदिरा गांधी जैसे दिग्गज नेताओं के प्रिय थे।















विज्ञापन
Facebook
वीडियो
आपका वोट
किस घोषणा पत्र को आप भविष्य के लिए चुनना पसन्द करेंगे?
विज्ञापन
आपकी राय

संपर्क करे

अगर आप कोई सूचना, लेख , ऑडियो वीडियो या सुझाव हम तक पहुचाना चाहते है तो इस ई-मेल आई पर भेजे info@ekhabri.com या फिर Whatsapp करे 7771900010



  
विज्ञापन