छत्तीसगढ़ के 600 बीएसएनएल कर्मी लेंगे वीआरएस

  20/11/2019


भारतीय दूरसंचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) के 80 हजार कर्मियों को सेवानिवृत्ति दिए जाने की सरकार की तैयारी सफल हो गई है। अब तक देश भर से 79 हजार 500 कर्मचारी वीआरएस के लिए आवेदन कर चुके हैं। इनमें से 600 कर्मचारी-अधिकारी छत्तीसगढ़ के हैं।

देश भर में बीएसएनएल के एक लाख 59 हजार से अधिक कर्मचारी-अधिकारी हैं। इनमें एक लाख तीन हजार कर्मचारी-अधिकारियों की उम्र 50 वर्ष से अधिक है। सरकार वीआरएस के लिए 50 साल से अधिक उम्र के कर्मचारियों पर ही जोर दे रही है। बताया जा रहा है कि इसी प्रकार महानगर टेलीफोन निगम लिमिटेड (एमटीएनएल) के करीब 16 हजार कर्मचारियों में से 13 हजार कर्मचारियों ने वीआरएस के लिए आवेदन किया है।

कर्मचारी यूनियनों का आरोप है कि सरकार जबरन सेवानिवृत्ति करवा रही है। इससे बीएसएनएल और एमटीएनएल का कोई फायदा नहीं होने वाला है। फायदा तो तब होता जब इन्हें ऊपर उठाने के लिए मजबूती से प्रयास किए जाते, लेकिन अभी कोई प्रयास दिख नहीं रहा है। वीआरएस के लिए अगले माह तीन दिसंबर तक आवेदन करना है। आवेदन करने के बाद वापस भी लिया जा सकता है। लेकिन आवेदन वापस लेने के बाद दोबारा वीआरएस का आवेदन नहीं किया जा सकेगा। मालूम हो कि चार नवंबर से वीआरएस के लिए आवेदन लिए जा रहे हैं।

बीएसएनएल सूत्रों का कहना है कि भले ही बीएसएनएल लैंडलाइन सेवा के मामले में 80 फीसद तक गिरावट आई है, लेकिन मोबाइल सेवा के मामले में अभी भी बेहतर है। दूसरी कंपनियों की तुलना में बीएसएनएल के उपभोक्ता अभी भी ज्यादा नहीं घटे हैं। इसके बावजूद इसे आगे बढ़ाने के बजाय कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति कराई जा रही है। बताया जा रहा है कि इससे पहले बीएसएनएल कर्मियों को समय पर वेतन न मिलने की भी दिक्कत आ रही थी।













विज्ञापन
Facebook
वीडियो
आपका वोट
क्या भूपेश सरकार का १५ अगस्त तक का सफर उपलब्यियों भरा रहा ? क्या है आपकी राय ?
विज्ञापन
आपकी राय

संपर्क करे

अगर आप कोई सूचना, लेख , ऑडियो वीडियो या सुझाव हम तक पहुचाना चाहते है तो इस ई-मेल आई पर भेजे info@ekhabri.com या फिर Whatsapp करे 7771900010



  
विज्ञापन