123 साल पहले आधुनिक ओलंपिक खेलों की हुई थी शुरुआत

  06/04/2019


123 साल पहले आधुनिक ओलंपिक खेलों की हुई थी शुरुआत

खेल डेस्क। ओलंपिक्स खेलों का इतिहास वैसे से तो बहुत पुराना माना जाता हैं। लेकिन आधुनिक ओलंपिक खेलों की शुरुआत 6 अप्रैल 1896 हुई थी। खेल के इतिहास में 6 अप्रैल का दिन काफी महत्वपूर्ण दिन है। इस खेल का आयोजन सबसे पहले यूनान की राजधानी एथेंस में हुआ था। एथेंस ओलंपिक खेलों में सिर्फ़ 14 देशों के 200 लोगों ने 43 मुक़ाबलों में हिस्सा लिया। ग्रीस के ओलिंपिया पर्वत पर खेले जाने के कारण इसका नाम ओलंपिक पड़ा।

ओलंपिक्स खेल के आयोजन में, शहरों और राज्यों के खिलाडी हिस्सा लिया करते थे। इसकी लोकप्रियता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता हैं, क्योंकि उस समय शहरों और राज्यों की हो रही लड़ाईयों को खेल के कारण स्थगित कर दिया गया था। ओलम्पिक के प्रारंभिक इतिहास में इन खेलों में साहित्य, कला, नाटक, कुश्ती, संगीत, दौड़, घुड़सवारी एंव जिमनास्टिक आदि की प्रतियोगितायें भी होती थीं। हजारों लोग इन प्रतियोगिताओ का आनंद लिया करते थे।

वर्ष 1900 में पेरिस में हुए, दूसरे ओलम्पिक खेलों में भारत ने पहली बार इन खेलों में हिस्सा लिया था। ब्रिटेन के रहने वाले नार्मन प्रिचर्ड ने भारत की ओर से 200 मीटर की दौड़ को पूरा करके रजत पदक प्राप्त किया। फिर 20 वर्षों तक भारत ने किसी भी ओलम्पिक खेल में हिस्सा नहीं लिया। भारत ने सन 1920 में चार एथलीटों और दो पहलवानों की टीम ने एंटवर्प खेलों में भाग लिया था। सन 1932 में ओलम्पिक में भारत ने दौबारा से हाकी में स्वर्ण पदक जीता। इसी बीच द्वितीय महायुद्ध प्रारम्भ हो गया। इसी वजह से 1940 औ 1944 के ओलम्पिक खेलों का तैयारी नहीं किया जा सकी थी। करीब 12 साल के बाद लन्दन में 1948 में दौबारा ओलम्पिक खेलों की तैयारी की गई। इसमें भारत ने भी हिस्सा लिया था।













विज्ञापन
Facebook
वीडियो
आपका वोट
किस घोषणा पत्र को आप भविष्य के लिए चुनना पसन्द करेंगे?
विज्ञापन
आपकी राय

संपर्क करे

अगर आप कोई सूचना, लेख , ऑडियो वीडियो या सुझाव हम तक पहुचाना चाहते है तो इस ई-मेल आई पर भेजे info@ekhabri.com या फिर Whatsapp करे 7771900010



  
विज्ञापन